Skip to main content |Screen Reader Access

   संदेश

  सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यम पारंपरिक रूप से राज्य के आर्थिक विकास की गति को बढाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं। इन उद्यमों में निवेश पिछले कुछ वर्षों में काफी बढा है।बदले हुए आर्थिक परिदृश्य में, सार्वजनिक क्षेत्र के उद्यमों को अधिक प्रतिस्पर्धी माहौल में काय्र करने और प्रदर्शन करने की आवश्यकता होती है। इसलिए, यह आवश्यक हो गया है कि ये उद्यम बदलते राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विश्व आर्थिक व्यवस्था के अनुरून खुद को ढालें और उत्पादकता और दक्षता बढाने वाली गतिशील विकास रणनीतियों को विकसित करें।राजकीय उपक्रम ब्यूरो, राजकीय उपक्रमों के कार्यो का आकलन करता है और उनके कामकाज में सुधार के उपायों का सुझाव देता है। यह प्रत्येक उद्यम के सम्बन्ध में महत्वपूर्ण डेटा के संकलन, विश्लेषण और प्रकाशन का काम भी करता है, जिससे तुलनात्मक प्रदर्शन मूल्यांकन की सुविधा मिलती है।